Computer के input और output डिवाइसओ की पूरी जानकारी ?


Computer के input और output डिवाइसओ की पूरी जानकारी ?

दोस्तों आज का दौर digital दौर है इस दौर में ज्यादातर काम कंप्यूटर ( computer ) से ही किया जाता है इसलिए लोग कंप्यूटर ( computer  )के बारे में छोटी बड़ी जानकारी इकट्ठा करना चाहते हैं ताकि वह कंप्यूटर फील्ड से रिलेटेड कोई कोर्स कर सके और उसमें अपना बेहतर कैरियर बना सके और कुछ लोगों का कंप्यूटर के बारे में जानना अच्छा लगता है और कुछ स्कूल स्टूडेंट होंगे जिन्होंने कंप्यूटर से रिलेटेड कोई सब्जेक्ट ले रखा होगा 

Computer के input और output डिवाइसओ की पूरी जानकारी ?

Computer के input और output डिवाइसओ की पूरी जानकारी ?

अगर आप इनकी तरह कंप्यूटर (computer)में इंटरेस्ट रखते हैं तो आप बिल्कुल सही पोस्ट पर आए हो आज हम आपको कंप्यूटर के इनपुट और आउटपुट डिवाइस ओं की पूरी जानकारी देने वाले हैं


Computer के input डिवाइस ?

दोस्तों सबसे पहले हम जानेंगे कि इनपुट डिवाइस ओं के बारे में की इनपुट डिवाइस  किन है कहते हैं इनपुट डिवाइस उन्हें कहते हैं जो डिवाइस कंप्यूटर को इंफॉर्मेशन देने के लिए इस्तेमाल किया जाता है उन्हें इनपुट डिवाइस कहते हैं वैसे तो कंप्यूटर को सूचना देने के लिए बहुत सारे इनपुट डिवाइसों का इस्तेमाल किया जाता है जैसे माउस जॉय स्टिक कीबोर्ड इनपुट डिवाइस ओं का कंप्यूटर के साथ में इस्तेमाल किया जाता है इन इनपुट डिवाइस के बारे में जानकारी इस तरह से है

1. कीबोर्ड (keyboard)दोस्तों कीबोर्ड एक इनपुट डिवाइस है कीबोर्ड का इस्तेमाल हम अफसरों को इनपुट करने के लिए किया जाता है कीबोर्ड पर जैसे टाइपराइटर पर बटन होती हैं वैसे ही कीबोर्ड पर भी बटन होते हैं सिंपल कीबोर्ड में 75 से 110 तक बटन होते हैं


2 .माउस ( mouse ) माउस यह एक इनपुट और पॉइंट इन डिवाइस है माउस में दो बटन होते हैं

1. माउस में लेफ्ट बटन और राइट बटन होती हैं लेफ्ट बटन को दबाने से किसी भी एप्लीकेशन या फाइल और किसी और तरह को डाटा को सेलेक्ट करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है

2. दोस्तों राइट बटन का हम इस्तेमाल किसी और एप्लीकेशन और फाइल से मिलते जुलते मैन्यू को देखने के लिए करते हैं

दोस्तों हम माउस का यूज़ ऑब्जेक्ट को सेलेक्ट करने के लिए साथ कई और पिक्चर्स को डिजाइन करने में इस्तेमाल किया जाता है माउंट दो तरह के होते है

1. पहला माउस का नाम मैकेनिकल माउस है इस मास में नीचे के हिस्से में 1 गेंद या फिर एक बार लगी होती है इस गैंग के पास ही में एक छोटा सा वही सा लगा होता है जब मैं उसको हम घूम आते हैं वह गेंद घूम जाती है और उसके घूमने पर वहीं घूमता है जिस की वजह से माउस को पॉइंट री की और घुमाते हैं और आइकन को हम छोटे से पिक्चर या फिर इमेज में ले जाते हैं जब बाएं तरफ से बटन क्लिक करके हम देखते हैं तो और आइकन से जुड़े हुए प्रोग्राम सेलेक्ट होता है

2. दूसरा माउस का नाम ऑप्टिकल माउस है इस ऑप्टिकल माउस में लेदर सेंसर का इस्तेमाल किया जाता है और इनमें माउस की चुंबक के जो गेंद्र वह बोल रखी होती है और इस तरह कृपया इंटर का मूवमेंट लेजर सेंसर की मदद से हो पाता है


3. जॉय स्टिक ( joystick )जस्टिस एक जगह पर चरणों में जैसी होती है जिसे हाथ पकड़ कर घुमाने की वजह से उसके अंदर लगी हुई गेंद को घुमाया जाता है हैंडल को घुमाने की वजह से स्क्रीन पर चलती हुई चीज की दिशाओं को बहुत ही आसानी से बदन जा सकता है इसलिए यह डिवाइस बच्चों के मदद में कंप्यूटर पर गेम खेलने के काम आता है  वैसे तो बहुत से गेमओ को कीबोर्ड  कीबोर्ड की मदद से है खेल सकता है पर फिर भी जॉय स्टिक से वीडियो गेमिंग करना बहुत ही आसान हो जाता है


4. स्केनर (scanner)यह एक इनपुट डिवाइस है इसकी मदद से किसी लिखाई पेपर का गुलाब की तरह गिरासे को कंप्यूटर को इनपुट बहुत ही आसानी से कर सकते हैं जिस भी कागजात को स्कैन करना होता है उसे सिकंदर पर रख दिया जाता है और शिकायत पर जो लगे लेंस और प्रकाश स्त्रोत को फोटो सेंड करने में और बायनरी अंकों में बदलकर कंप्यूटर की मेमोरी में उसे भेज दिया जाता है और इस फोटो को मॉनिटर स्क्रीन ट्रेन देख सकते हैं किसी भी सिकंदर की गणना करने की शक्ति से इकाई स्थान में चित्रों की संख्या पर ही भरोसा करती है रेजोल्यूशन कहा जाता है आज के समय में सिकंदर की रिजर्वेशन 601 और 2200pdi (dot perlunch) है हम दो तरह के स्कैनरों को काम में लाते हैं
 1 .फ्लैट बैंड स्केनर (flat bed scaner)
2. हैंड हेल्ड स्कैनर (handhold scanner)


5. लाइट पेन (lighten)यह भी एक इनपुट डिवाइस है इस डिवाइस को देखने से सादा सिंपल वॉल पेंट की तरह है एक लाइक पेंट की मदद से स्क्रीन पर बहुत ही आसानी से कुछ भी बना सकते हैं इस लायक बैंक के ऊपर सिर पर पतली सी सी होती है वह इसमें पिक्चर एक तेल लगा रहता है इसका दूसरा वाला सिरा कंप्यूटर के सीपीयू से मिला होता है जब भी थैंक यू टिप से ही कंप्यूटर पर कोई भी चीज बनाई जा सकती है जो लाइट पेन है जो इसकी फुल स्क्रीन में से ट्रांसफर होकर जाता है जो कोड जनरेट अपने आप कर लेता है और हम उसी के रूप में कंप्यूटर स्क्रीन पर दिखाई देंगे और हम इसका यूज कर कर मानचित्र भी विशेष मार्ग लगाने से इसलिए जैसे क्रिकेट में हम दर्शकों को ग्राउंड में गेंद की आकृति बनाई यानी सर्कल बना कर जाता है कैद की मदद से बनाया जाता है कैड का पूरा नाम (cad)computer aided design जैसे मैं क्या जाता है


6. ट्रैक बॉल (track ball)दोस्तों ट्रैकबॉल और ट्रैक माउस ही होता है और यह पॉन्टिंग डिवाइस है ट्रैकबॉल में ऊपर की तरफ एक बॉल सी होती है जिसे हम उंगली पकड़कर घूम आते हैं इस बोल की वजह से जब हम बोल को घुमाते हैं तो जो कर सर पर पहले से ही रहती है वह कर सर भी घूमने लगती है

 पॉइंट उसी दिशा में घूमेगा जिस तरह बाल घूमेगी माउस की तरह इसमें भी दो बटन होती हैं ट्रैकबॉल कंप्यूटर और लैपटॉप में लगी होती है जिससे हम जरूरत पड़ने पर इस्तेमाल करते हैं ट्रैकबॉल से माउस के मुकाबले काम करना बहुत ही आसान है



7. ओ,एम,आर (optical mark reader)ओ एम आर एक अच्छा डिवाइस है जो कागज के पन्नों की पर पेन और पेंसिल के निशान को दिखाता है प्रकाश को इसमें दिया जाता है जो जगह पर किसी भी तरह का निशान रहता है तो प्रकार वहां रुक जाता है और जहां नहीं रहता वहां से निकल जाता है इसका इस्तेमाल पेपर जैसे आजाद पर जांच करते हैं


8. ओ सी आर (optical character reader)ओ सी आर मैं अक्षरों का लिखने के लिए डाटा का एक सेट रहता है जिसको सिरप इंसान या फिर मशीन ही पड़ सकता है इनको होशियार मानक कहते हैं इससे बहुत सारे अक्षरों को एक ही तरह से प्रकाश में डाला जाता है होशियार मशीन के नीचे सेंसिटिव रखा होता है वह ocr आसानी से पढ़ लेती है
ओसीआर (OCR) की खूबी क्या क्या है ?
1. इनकी बहुत ज्यादा गति है
2. इसका इस्तेमाल करने से हमें डाटा को तैयार करना होता है
3. इससे गलती करने के चांस कम रहते हैं इससे डाटा को मैनुअल फील करना नहीं पड़ता है


9. एम आर सी आर ( MAGNETIC INK CHARACTER READER )एचडी वालों को यूज बैंकों में ज्यादा इस्तेमाल होता है जो बैंक का चेक होता है उसमें नीचे की ओर एमआईसीआर की मदद से जो बैंकों को कोर्ट लोगों के खातों की संख्या और रात ही जैसी बड़ी चीजें की जाती हैं इसमें आयरन चुंबक के ऑक्साइड रहता है कोई सा भी चेक हो उसको एमआईसीआर के नीचे करा जाता है यह रीडिंग है बहुत ज्यादा बड़े अंतराल में और छोटे अंतराल को इस तरह दिखाता है जैसे कि छोटे बड़े रूप में होता है और एग्जांपल 0 और 1 के रूप में दिखाता है

एमआईसीआर की खूबी यह है
1. एमआईसीआर की मदद से चाय को बहुत ही आसानी से पढ़ सकते हैं
2. एमआईसीआर की मदद से चाय कॉफी प्रोसेसिंग बहुत तेजी से होती है
3. जिस डाटा को अमाईचार ने पढ़ा है उस डाटा को हम आसानी से कंप्यूटर में डायरेक्ट भी डाल सकते हैं
4. जो अनुमान चार अक्षर रहते हैं उन्हें मशीन और इंसान बहुत ही आसानी से पढ़ सकते हैं

Computer के output device ?

दोस्तों कंप्यूटर के साथ बहुत सारे और कुछ दवाइयों का इस्तेमाल होता है आज के समय में कंप्यूटर के साथ मॉनिटर और पेंटर जैसे डिवाइस का इस्तेमाल होता है दोस्तों दो तरह के मॉनिटर होते हैं दोनों मॉनिटर की डिटेल इस तरह से हैं मॉनिटर कंप्यूटर की प्राइमरी आउटपुट डिवाइस की तरह होता है जिस डाटा को हम कंप्यूटर में इनपुट कराते हैं एंड कुछ करने के बाद मॉनिटर पर लोडिंग होने के बाद मॉनिटर स्क्रीन पर दिखाई देता है दोस्तों मॉनिटर दो तरह के होते हैं

1. सीआरटी based मॉनिटर (CRT BASED MONITOR) ? जो वेक्यूम ट्यूब होती है वही कैथोड रेड ट्यूब रहती है वेक्यूम ट्यूब में इलेक्ट्रॉन गण जैसा कुछ रहता है वह florescent के अंदर डिफ्लेक्शन कॉल रहती है और फौजी कॉल भी रहती है जो भी कुछ स्क्रीन पर दिखता है वह इनकी मदद से ही दिखाता है जो लेयर होती है स्क्रीन पर रहती है जो स्क्रीन पर फुल एचडी में दिखाई देता है वह उसकी मदद से ही देख पाता है

2.LCD (liquid crystal display  )मॉनिटर ट्रांजिस्टर (than fulfilling transistor) मैं बन जाती है और हां सीआरटी और एलसीडी मॉनिटर की बराबरी में वह बहुत छोटा है और हल्का रहता है एलसीडी और पीआरटी एलसीडी की पावर बहुत ज्यादा अधिक रहती है

4. प्रिंटर (printer) दोस्तों कंप्यूटर का प्रिंटर आउटपुट डिवाइस है मॉनिटर पर जो डाटा लोडिंग होकर दिखाई देता है जो डाटा लोड हो गया है उस डाटा को कागज पर छापने के लिए प्रिंट आउटपुट का इस्तेमाल किया जाता है इस दौर में बहुत सारे प्रिंटर्स हैं एंडप्वाइंट रसों का इस्तेमाल प्रिंट करने में होता है जो इस तरह के होते हैं
डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर (dot matrix  printer)
इंपैक्ट प्रिंटर बहुत ही सस्ता होता है इस प्रिंटर को व्यापार में बहुत ज्यादा इस्तेमाल करते हैं जो इसमें प्रिंटर होता है उसकी सेव क्वालिटी नहीं आती

इंजेक्ट प्रिंटर (inkjet printer) इंजेक्ट प्रिंटर बहुत ही अच्छा प्रिंटर है इससे छपी हुई पेपर एकदम बेस्ट क्वालिटी की होती है इस प्रिंटर की एक खूबी यह भी है कि यह पेपर किसी भी कलर में छाप सकता है और इससे छपे पेपर और पेपरों के मुकाबले ज्यादा महंगे होते हैं और इस प्रिंट स्पीड बहुत ज्यादा होती है

लेजर प्रिंटर (lajer printer) – लेजर प्रिंटर एक प्रिंटर जैसा ही है या नीचे इंपैक्ट प्रिंटर काही एक उदाहरण सा है और एक लेजर प्रिंटर का काम लेजर लाइट से ही होता है यह लेजर प्रिंटर इन दोनों प्रिंटर ओं से महंगा है डॉट मैट्रिक्स और एक जाट से क्योंकि वह दोनों प्रिंटर सिंपल हैं इसलिए लेजर प्रिंटर महंगा है और इस लेजर प्रिंटर को टोनर भी कहा जाता है और एक प्रिंटर की एक खास बात यह भी है इस प्रिंटर में  मैं भी मैं हर मिनट में 50 पेजों को तैयार करने मै सक्षम है और हां इस प्रिंटर में एक खास बात यह भी ह आप page को रंगीन में भी तैयार कर सकते हैं और काली छपाई मैं भी कर सकते हैं

इस प्रिंटर के फायदे जाने ?

1. यह कम समय में ज्यादा पेज तैयार कर सकता है
2. और एचडी क्वालिटी और प्रिंटर से बेहतर है
3. यह प्रिंटर औरों के मुकाबले तेज गति से चलता है
4. यह बहुत सारे फोटो को साइज को समर्थन करने मैं बेहतर ह यह प्रिंटर अच्छे पेज की ग्राफिक तैयार करने में योगदान देता है

इस प्रिंटर के हानियां इस तरह से हैं

1. यह प्रिंटर बहुत ही ज्यादा महंगा आता है और प्रिंटो कोई मुकाबले

2. एक प्रिंटर से प्रिंटिंग एक है तो एक ही प्रिंट हो पाता है

दोस्तों को उम्मीद है कि आपको इस पोस्ट में computer के input और output डिवाइस ओ की पूरी जानकारी मिल गई होगी अगर आपको इस पोस्ट से किसी भी तरह की परेशानी है तो हमें कमेंट कर कर पूछ सकते हैं




एक टिप्पणी भेजें

1 टिप्पणियाँ

Please do not enter any spam link in the comment box.